header

Internet Banking

किसी भी बैंक द्वारा प्रदान की जा रही सेवाओं को किसी भी स्थान से कंप्यूटर, मोबाइल या किसी अन्य यन्त्र के द्वारा इन्टरनेट के माध्यम से प्रयोग करना इन्टरनेट बैंकिंग कहलाता है, इसके लिये बैंक वेबसाइट और मोबाइल ऐप बना कर उसे अपने ग्राहकों को इन्टरनेट के माध्यम से उपलब्ध करवाते है |

जैसे ऑनलाइन बैंकिंग, मोबाइल बैंकिंग, नेट बैंकिंग, ई-बैंकिंग इत्यादि, लेकिन इन सब का आशय एक ही होता है | मोबाइल बैंकिंग मे हम मोबाइल फोन पर इन्टरनेट के माध्यम से बैंक के कार्य पूर्ण करते है

इन्टरनेट बैंकिंग हमें अपने लगभग सभी बैंकिंग लेन-देन और सेवाओं के लिये बैंक की शाखा मे जाने की परेशानी से मुक्ति दिलाती है| इसके माध्यम से हम निम्न सभी बैंकिंग कार्य घर बैठे या कहीं से भी संपन्न कर सकते है

अपने खाते से किसी अन्य के खाते मे पैसे भेजना: इंटरनेट बैंकिंग के माध्यम से हम किसी भी दूसरे व्यक्ति के खाते मे तुरंत पैसे भेज सकते है| आजकल बैंक कई प्रकार की नयी सेवाएं उपलब्ध करवा रहे है, जिसमे पैसे पाने वाले के पास अपना बैंक खाता होना आवश्यक नहीं है, वह सिर्फ अपने मोबाइल के उपयोग से किसी भी एटीएम् से पैसे निकाल सकता है.

  • अपने खाते की शेष राशि की जानकारी लेना.
  • अपने खाते मे हुए लेन-देन की बैंक स्टेटमेंट देखना.
  • नया एफ-डी या अन्य खाता खोलना.
  • मोबाइल रिचार्ज करना.
  • बिजली, पानी, डिश टीवी व अन्य बिलों का घर बैठे भुगतान करना.
  • अपने खाते का स्टेटमेंट डाउनलोड करना.
  • चेक बुक आर्डर करना.
  • ऑनलाइन खरीददारी करना.
  • बैंक से किसी भी उपलब्ध बैंकिंग सेवा की मांग करना या शिकायत दर्ज करवाना.
  • अपने खाते की जानकारियां देखना या उसमे कुछ परिवर्तन करना.
  • शेयर बाजार और अन्य विभ्भिन निवेश ऑनलाइन करना.
  • बस, रेल व अन्य टिकट इन्टरनेट से बुक करवाना
  • अपना टैक्स व अन्य भुगतान ऑनलाइन करना
  • ऑनलाइन DD डिमांड ड्राफ्ट के लिये फॉर्म भरना.
  • अपने लोन व अन्य खातों का विवरण देखता.
  • जीवन बीमा, वाहन बीमा व अन्य बैंकिंग सेवाएं और उत्पाद ऑनलाइन खरीदना.

इन्टरनेट बैंकिंग का प्रयोग करने के लिये आपको अपने बैंक से संपर्क करना होगा.
बैंक मे इस सेवा के लिये फॉर्म भरने के बाद बैंक आपको इन्टरनेट बैंकिंग के लिये 'यूजर आईडी' और पासवर्ड जारी करेंगे|
इसके बाद आप इन्टरनेट के माध्यम से अपने बैंक की वेबसाइट पर जायेंगे
बैंक की वेबसाइट पर 'इन्टरनेट बैंकिंग' के लिये लिंक दिया हुआ रहेगा, इस पर क्लिक करने से वह आपको यूजर आईडी' और पासवर्ड डालने के लिये कहेगा.
प्रथम बार लोगिन / रजिस्ट्रेशन पर, अधिकतर बैंक आपको एक नया पासवर्ड सेट करते के लिये कहते है, यहाँ आप एक ऐसा पासवर्ड सेट करे जो किसी अन्य के लिये अनुमान लगाना मुश्किल हो पर आप उसे आसानी से याद रख सकें.
सही यूजर आईडी' और पासवर्ड डालने के बाद आप अपने बैंक खाते मे इन्टरनेट के माध्यम से प्रवेश कर पाएंगे और बैंकिंग सेवायों को उपयोग कर सकेंगे

  • इन्टरनेट बैंकिंग के लिये आपको जारी किया गया पासवर्ड किसी अन्य को न बताएं, ये पासवर्ड आपके बैंक खाते की चाबी है.
  • आप अपने पासवर्ड को कहीं लिख कर ना रखें, इससे इसके किसी अन्य के हाथों मे जाने की सम्भावना बढ़ जाती है.
  • इन्टरनेट बैंकिंग का लिंक हमेशा बैंक की वेबसाइट पर जाकर ही खोलें, किसी अन्य द्वारा भेजे गए ईमेल, एसएमएस इत्यादि से प्राप्त लिंक से कभी भी इन्टरनेट बैंकिंग का प्रयोग न करें.
  • किसी भी व्यक्ति के फोन करने पर उसे अपने बैंक खाते का पासवर्ड, या अन्य गुप्त जानकारियां न बताएं.
  • बैंक से लेन देन के दौरान आपको अस्थाई पासवर्ड भी भेजा जायेगा, यह सिर्फ एक समय के उपयोग के लिये होगा. इसे भी किसी अन्य को न बताएं.
  • इन्टरनेट बैंकिंग खाते के प्रयोग के बाद उसे 'लोग आउट' कर दें.
  • अपना मोबाइल नंबर और ईमेल आईडी जरुर बैंक मे दर्ज करवाएं, जिससे आपके खाते मे होने वाले सभी लेन-देन की सुचना तुरंत आपको मिल जायेगी.
  • अपने डेबिट कार्ड, एटीएम् इत्यादि को संभल कर रखें, खो जाने पर तुरंत बैंक को सूचित करें.
  • अपने ब्राउजर मे इन्टरनेट बैंकिंग के प्रयोग के समय ध्यान दें की एड्रेस बार का रंग हरा हो गया है, एड्रेस में https है न की सिर्फ http और पैडलाक (ताले का चिह्न) दिखाई दे रहा है या नहीं. ये सभी सुरक्षित लेनदेन के लिए आवश्यक हैं. इनके बिना ऑनलाइन लेनदेन ना करें. पैडलाक पर क्लिक करके आप उस वेबसाइट का सुरक्षा प्रमाण पत्र देख सकते हैं.
  • हमेशा आपके बैंक की वेबसाइट का सही एड्रेस टाइप करें और उस पर ध्यान भी दें. जैसे की स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया की ऑनलाइन बैंकिंग की वेबसाइट है https://www.onlinesbi.com/. यदि आप इसकी जगह कुछ और टाइप करते हैं या किसी सर्च इंजन द्वारा इसे खोजते हैं तो किसी अन्य वेबसाइट पर भी पहुँच सकते हैं जो उस बैंक से सम्बंधित नहीं है (जैसे की http://ww3.sbionline.com/)
  • लाटरी या किसी इनाम सम्बन्धी इ-मेल एसएमएस इत्यादि से से भी बचें. इनका उत्तर कभी न दें और फ़ौरन डिलीट कर दें. आप इनकी शिकायत उस संस्था में भी कर सकते हैं जहाँ से ये इ-मेल आने का दावा करते हैं.
  • आपने कंप्यूटर अथवा लैपटॉप को हमेशा नये एंटी-वायरस से युक्त रखें, क्यों कि वायरस और अन्य मालवेयर आपके कंप्यूटर और आपके इन्टरनेट उपयोग की जानकारी हेकर को भेज सकता है
  • किसी भी प्रकार की जानकारी या संदेह होने पर बैंक के फोन नंबर पर कॉल करके तुरंत सुचना दें.